daalchini

दालचीनी  एक बहुत ही  उपयोगी  मसाला है। जोकि हमारे किचेन में मौजूद रहता है। यह  हमारे खाने  के  स्वाद को बढ़िया बनाने में मदद  करता है। यह स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी लाभदायक है यह बहुत ही प्राचीन समय  से हमारे रसोई का हिस्सा  रहा है। इसमें ऐसे तत्व भी पाये जाते है जो हमारे शरीर की रक्षा करते  है। यह  बहुत ही बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट का कार्य करता है। जो हमारे लिए जरुरी है  इसको भोजन में मिलाने से खाने का स्वाद बढ़िया हो जाता है। इसमे औषधीय गुण भी पाये जाते है। जोकि मसाले  के साथ हमारे स्वास्थ्य की देख भाल करता है। इसलिए दालचीनी का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

इसका उपयोग निम्न प्रकार से फायदे मंद है।
जोड़ो के दर्द में फायदेमंद -
जोड़ो के दर्द में फायदेमंद
dard

दालचीनी का उपयोग जोड़ो के दर्द के लिए बहुत ही फायदेमंद है।इसमें पाये जाने वाले तत्व जोड़ो के दर्द से निजाद  दिलाने में मदद  करते है। एक गिलास पानी गर्म कर ले और उसमे दालचीनी का आधा चमच्च दालचीनी  का पाउडर शहद के साथ मिलाकर सेवन करे ऐसा करने से कुछ दिन में  आपको राहत मिलना शुरू हो जायेगा।

दस्त में लाभ प्रद -
 दालचीनी का सेवन दस्त में किया जाय तो दस्त और उलटि दोनों में राहत प्रदान होता है। क्योकि इसमें एंटी माइक्रोबियल और एन्टीबैक्टेरियल गुण पाए जाते है ,जोकि इस रोग के लिये  फायदेमंद है।  दस्त में इसका सेवन जरुर करना चाहिये।
मधुमेह में दालचीनी -
मधुमेह में दालचीनी
diabetes
मधुमेह में  दालचीनी का इस्तेमाल बहुत ही फायदेमंद है। प्रतिदिनं दालचीनी का उपयोग करने से डायबिटीज को निययंत्रित किया जा सकता  है। यह रक्त में मौजूद शक्कर की  मात्रा को कम करता है और ब्लड  में शक्कर  मात्रा को सामान्य बनाये रखता है। एक चमच्च दालचीनी पाऊडर का इस्तेमाल भोजन के साथ कर सकते है। जोकि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरुरी है।

सर्दी और गले की खरास की लिये फायदेमंद -
सर्दी और गले की खरास की लिये फायदेमंद
cough and cold

दालचीनी का उपयोग सर्दी जुखाम और गले की खरास के लिए बहुत  ही उपयोगी है। इसमें मौत्व सर्दी से राहत दिलाने में मदद  करते है।इसमें एंटी माइक्रोबियल  और एंटी इन्फ्लामेट्री गुण  मौजूद होते है।जो इसके लीये बहुत ही फायदेमंद है। दालचीनी पाउडर और लौंग को शहद के साथ लेने पर सर्दी से राहत मिलती है। और इसके आलावा दालचीनी और लौंग को पानी में उबाल ले फिर ठंडा करके पीये। इससे राहत मिलेगी।

रक्त संचार के लिये फायदे मंद - 
दालचीनी का उपयोग रक्त सनंचारण के लिए लाभदायक है। इसमें  मौजूद तत्व रक्त को पतला बनाकर रखते है  जो  हमारे ह्रदय और अन्य बीमारियों  के लिये बहुत ही फायदेमंद है। इसका नियमित इस्तेमाल दिल से जुडी बीमारियों से बचाता है। इसलिए इसका सेवन अवश्य करना चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल और ह्रदय के लिये -
कोलेस्ट्रॉल और ह्रदय के लिये
heart
दालचीनी के इस्तेमाल से कॉलेस्ट्राल और ह्रदय रोग के प्रभाव  को कम किया  जा सकता है। यह हमारे शरीर में मौजूद हानिकारक कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदत करता है। और अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सही बनाये रखने में मदद  करता है। जिससे हार्ट और ह्रदय सम्बंधित बीमारियों में कुछ हदतक सहायता मिल सकती है। यह हमारे धमनियों को सुररक्षित रखने में मदद  करता है। आप खाने में दालचीनी का उपयोग कर सकते है। और दुध के साथ भी मिलाकर पी सकते है।

कैंसर में लाभ-

कैंसर में लाभ
cancer
दालचीनी का उपयोग कैंसर के लिए भी फायदेमंद  है। इसमें कुछ ऐसे  तत्व पाए जाते है। जो कैंसर की कोशिकाओं को रोकने में मदद  करते है जिसके  वजह से पूरी तरह इसका विस्तार  नहीं हो   पाता। कई अध्ययनों में पता चला है। कि नियमित रूप से दालचीनी का इस्तेमाल कैंसर कोशिकाओ की वृद्धि को रोकता है। दालचीनी में एंटीकैंसर गुण मौजूद होते है। जो कई प्रकार के कैंसर को रोकने में मदद  करता है।

रक्त चाप के लिए लाभदायक-
रक्त चाप के लिए लाभदायक
blood presure

दालचीनी के इस्तेमाल से उच्च  रक्त चाप में कमी आती है। जो इस तरह के मरीजों के लिए फायदेमंद है। यह ब्लड सर्कुलेशन को सामान्य बनाये रखने में सहायता प्रदान करता है।

पाचन तंत्र के लिये -
दालचीनी का उपयोग पाचन तंत्र के लिए सही है। यह अपच जैसी समस्या से  छुटकारा दिलाता है इसका सेवन करने से गैस ,एसिडिटी से भी राहत मिलती है।  यह हमारे पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं को भी ठीक करता है। पाचन  से जुड़ी समस्या को सही करने के लिए दालचीनी  का सेवन करना चाहिये। इसके नियमित सेवन से पाचन क्रिया दुरुस्त होती है। और आहार आराम से पच जाता है।

वजन कम करने में सहायक -
वजन कम करने में सहायक
weight loss

दालचीनी के सेवन से मोटापे को कम किया जा सकता है। अगर प्रतिदिन सुबह में दालचीनी पॉवडर को गर्म पानी मे उबालकर सेवन करने से मोटापे में राहत मिलती है। इसको सुबह नास्ते से पहले लेना चाहिए इसके आलावा शहद  के साथ भी इसका सेवन कर सकते है। ऐसा कुछ दिन तक इस्तेमाल करने से आपको मोटापे या वजन  को कम करने में मदद  मिल सकती  है।

दांत दर्द में  राहत -
अगर आपके दांत में  दर्द है तो आपको  दालचीनी का थोङा सा टुकड़ा मुँह के अंदर चबाकर खाने से दांत के दर्द से राहत मिलेगी और इसके अलावा इसके तेल को रुई में लगाकर दांत में रख सकते है।

मानसिक तनाव  को दुर करे -
यह मनसिक तनाव को दूर करने  में सहायक  है। इसके सेवन से स्मरण शाक्ति  बढ़ती है और हमारे कार्य करने की छमता को संवृद्ध  बनाता है इससे मन तरोताजा रहता है। सोचने और समझने की शक्ति मे  इजाफा होता है। यह आपको एकाग्रचित बनाने भी सहायता प्रदान करता है। जोकि हमारे लिए बहुत ही जरूरी है। अगर नियमित रूप से इसका सेवन किया जाय तो  हमारे शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी काफी  फायदेमंद है।इसलिए इसका सेवन करना हमारे लिए लाभ  प्रद  है।

उम्र के प्रभाव को कम करे-
दालचीनी का नियमित इस्तेमाल करने से उम्र का प्रभाव कम होता है क्योकि इसमे एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है।  ज्यादा उम्र होने के बाद भी उम्र के प्रभाव को सही संतुलित बनाये रखता है। इसके नियमित इस्तेमाल से शारीरिक और मानसिक स्थिति सही रहती है।
  
त्वचा के देखभाल के लिये -
त्वचा के देखभाल के लिये
tvacha
दालचीनी का उपयोग त्वचा की देखभाल के लिए बहुत ही जरूरी है आज कल की भाग दौङ भरी जिंदगी में   ध्यान देना मुश्किल हो गया है। इसलिए दालचीनी का इस्तेमाल करके अपने त्वचा को खूबसूरत और जवाँ   बना सकते है। यह आपके त्वचा को सुरक्षा प्रदान करता है। इसमें ऐसे तत्व पाए जाते है जो हमारे त्वचा की देखभाल के लिए फायदेमंद है। यह एक  नैचुरल  औषधि का कार्य करता है और हमारे त्वचा को सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है। इसके उपयोग से हमारे त्वचा पर किसी भी प्रकार का कोई हानि नहीं पहुँचती है।

  • इसका इस्तेमाल आप स्वयं से  कर सकते है। थोड़ा सा दालचीनी पावडर और सहद मिक्स कर ले और चेहरे पर लगाए।  कुछ देर बाद धो ले। ऐसा कुछ दिन  तक करने से आपका चेहरा साफ और चमकदार दिखने लगेगा।
  • यह त्वचा की रंगत निखारने में मदत करता है। इसके लिए दालचीनी पावडर, निम्बू का रस और जैतून का तेल एक साथ मिलाकर लगाने से त्वचा  साफ होती है।
  • रूखी त्वचा के लिए आप दालचीनी पावडर और इसके साथ जैतून का तेल ,शहद  एक साथ मिक्स कर चेहरे पर लगाने से रूखी त्वचा से राहत मिलेगी। अगर आपको किसी प्रकार की एलर्जी हो तो नहीं लगाना चाहिए।
  • त्वचा के संक्रमण के लिए भी दालचीनी लाभदायक है।

दालचीनी बालों के लिये -
दालचीनी बालों के लिए

hair 

दालचीनी का प्रयोग हमारे बालो के लिये  काफी फायदेमंद है। आज कल के समय  बढ़ते हुए प्रदुषण के कारण बालू का रूखापन ,बालों का झड़ना ,असमय  सफ़ेद होना ,बालो का टूटना ,रुसी  का होना आम बात हो गया है। तमाम ऐसे  प्रोडक्ट है। जो हमारे बालो के लिए बाजार मे आसानी से मिल जाते है। लेकिन उनके दुष्प्रभाव भी पड़ते है।
इसलिए दालचीनी एक चमच्च ,शहद ,एक कप जैतून का तेल ,और थोङा सा बादाम का तेल मिलाकर पेस्ट बनाकर सेवन कर सकते है।
इसके लिये जैतून के तेल को गर्म करके सहद और  दालचीनी को उसमे मिलाये और उसका पेस्ट बना ले और बालो पर लगाए और  कुछ देर बाद धो ले। इस पेस्ट को महीने मे दो बार लगा सकते  है।
इस तरह से इस्तेमाल करने से कुछ दिन बाद आपके बाल लम्बे काळा और घने हो जायेगे।

दालचीनी का सेवन कैसे करे -
दालचीनी का सेवन कैसे करे
milk with dalchini

  • दालचीनी का प्रयोग पावडर बना कर सकते है। इसके छाल को पीस कर इसका पावडर तैयार किया जाता है ,जिसका सेवन मसाले के रूप में कर सकते है।
  • दालचीनी का सेवन शहद  के साथ कर सकते है।
  • दालचीनी को  पानी में डालकर उबाल ले और चाय बनाकर इसका सेवन कर सकते है।
  • दालचीनी का उपयोग दुध के साथ मिलाकर कर सकते  है।जोकि मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदे मंद है।


दालचीनी से होने वाले नुकसान -
दालचीनी का अत्यधिक सेवन करना भी शरीर को हानी पहुचा सकता है।  इसके अत्यधिक इस्तेमाल से लिवर पर असर हो सकता है। इसका सेवन डाक्टर के परामर्श से करे।
गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। जब भी सेवन करे डाक्टर से सलाह जरूर ले।
 इसके अत्यधिक सेवन से रक्त पतला हो सकता है। जब भी सेवन करे डाक्टर की सलाह अवश्य ले।


दालचीनी में पाये जाने वाले पोषक  तत्व -
दालचीनी में निम्न प्रकार पोषक तत्व पाये जाते है।  जैसे कि कार्बोहाइड्रेड ,डाइटरी फाइबर ,शुगर ,फैट
विटामिन्स-
    विटामिन ए,  विटामिन सी , विटामिन इ ,विटामिन के  ,नायसिन ,विटामिन बी 6 ,फोलेट , कॉलिन
मिनिरल्स -
     कैल्शियम , आयरन ,मैग्नेशियम ,फास्फोरस ,पोटैसियम , सोडियम ,ज़िंक ,कॉपर ,मैगनीज , सेलेनियम

दालचीनी में एंटीऑक्सीडेंट और एमिनो एसिड  प्रचुर मात्रा में पाये जाते है। और पोलिफेनोल ,फेनोलिक एसिड और फ्लेवोनाइड भी पाए जाते है जोकि बहुत ही फायदेमंद है।



एलोवेरा के फायदे 
खजूर स्वास्थ्य की दृष्टि से