vitamin b capsule and tablets

विटामिन बी के फायदे - Benefits Of  Vitamin  B

विटामिन बी हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी है इसको हम  विटामिन बी काम्प्लेक्स  भी कहते है ।यह वाटर सॉल्युबल विटामिन होता है
यानी वसा में घुलन सिल है। विटामिन बी के भिन्न भिन्न प्रकार होते है जैसे कि b1,b2,b3,b5,b6,b7,b9,b12,आदि है विटामिन बी हमारे शरीर के संतुलन को बनाए रखने में मदत करता है विटामिन बी का सबसे ज्यादा महत्व नसो के लिए है ,यह हमारे नसो को सुचारू रूप से कार्य करने में मदत करता है । जिससे हमारे शरीरमें तागत  बनी रहती है। जिससे हमें चलने फिरने में तागत मिलती है।विटामिन बी को हमारा शरीर खुद नहीं बना पाता इसलिए इसे खाद्य पदार्थ के माध्यम से प्राप्त करना होता है बहुत से ऐसे फ्रूट्स और वेजिटेबल है जिनके माध्यम से भरपूर मात्रा में विटामिन बी लिया जा सकता है इस विटामिन को शरीर संगृहीत करके रखता है इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा विटामिन बी युक्त खाद्य  सेवन करना चाहिए। ताकि विटामिन बी से होने वाले रोगो से बचा जा सके। इसले आलावा यह विटामिन पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है ।विटामिन बी भोजन को आसानी से पचाने का कार्य भी करता है और भूख को बढ़ाता है । यह भोजन को पचा करके हमें तागत  प्रदान करता है जिसको भूख नहीं लगती हो उसके लिए विटामिन बी बहुत ही जरूरी है।


यह विटामिन निम्न प्रकार के पाए जाते  है-

विटामिन A-(रेटिनॉल  और कैरोटेनॉयड्स )
विटामिन B1-( थियामिन )
विटामिन B2-(राइबोफ्लेविन )
विटामिन B3-(नियासिन )
विटामिन B5-(पैन्टॉएनिक )
विटामिन B6(पाइरोडोक्सिन )
विटामिन B7(बायोटिन )
विटामिन B9(फोलिक  एसिड )
विटामिन्स B12-(कॉबलमीन )


विटामिन बी की कमी लक्षण- Symptoms Of Vitamin B

विटामिन बी की कमी से स्नायु तंत्र कमजोर हो जाता है जिससे हमें शारीरिक दिक्कत महसूस होने लगती है ।

विटामिन बी की कमी से नसे सुचारू रूप से कार्य नहीं करती ।जिसके वजह से हाथ पैर में झनझनाहट होने लगती है नसों में ब्लड का सर्कुलेशन सामान्य रूप से कार्य नहीं कर पाता जिसके वजह से हाथ पैर कमजोरी महसूस होती है चलने फिरने में भी दिक्क्त होती है कोई भी ठीक  तरह से चल फिर नहीं पता इसलिए विटामिन बी दवा का इस्तेमाल करना चाहिए।

नींद में कमी आने लगती है ,हाथ पैर में जकड़न महसूस होने लगती है ,शरीर में अकड़न सिकायत होने लगती है विटामिन बी से ग्रसित मरीज पूरी रात बैचैन रहते है विटामिन बी खास तौर पर नसों के लिए एक महत्व पूर्ण विटामिन है वैसे तो कोई भी विटामिन  कि कमी शरीर के अंदर हो जाने पर इससे मिलते जुलते लक्षण दिखाई पड़ सकते है इसलिए डाक्टर की सलाह अवश्य ले। तभी इसका सेवन करे।

अगर आपको बार-बार चक्कर  महसूस होना ,सर भारी रहना ,जैसी दिक्कतें महसूस हो सकती है।  ऐसे लक्षण  प्रतीत होने पर भी विटामिन बी की कमी हो सकती है शरीर विटामिन बी के लेवल में कमी होगी तो इस तरह का लक्षण दिखाई देना स्वभाविक है ऐसे में विटामिन बी का ब्लड टेस्ट कराके विटामिन बी लेना चाहिए।

विटामिन बी की कमी से मुंह में छाले पड़ जाते है ।जिससे मुंह के अंदर कुछ भी खाने पीने में दर्द महसूस होने लगता है.अगर इस तरह का लक्षण दिखाई दे तो विटामिन बी की कमी हो सकती है ज्यादा दिन तक कमी बरकरार रहने पर समस्या बड़ सकती है इसलिए ऐसा लक्षण हो तो डाक्टर से सलाह ले करके विटामिन बी की दवा का सेवन कर सकते है इसके आलावा हम विटामिन बी युक्त से भरपूर  आहार की चीजों से पूरा कर सकते है ।

विटामिन बी की कमी से मूत्र  विकार की समस्या का होना पाया जाता है अगर आपके पेशाब में जलन हो तो इससे सम्बंधित दिक्कते  हो सकती है।

इसके कमी के वजह से जीभ में लालिमा और दाने  निकल जाते है और कुछ भी खाने पिने में तकलीफ होती है यह इसका प्रमुख लक्षणों में से एक है ऐसी स्थिति में विटामिन बी की दवा लेनी चाहिए।

विटामिन बी की कमी होने पर नजर से कम  दिखाई पड़ता है नजर कमजोर हो जाती है और देखने पर धुंधला जैसा प्रतीत होता है।



विटामिन बी की कमी को कैसे पूरा करे 


 विटामिन बी की कमी को पूरा करके इससे होने वाले रोगो से  बचा जा सकता है। अगर हम संतुलित मात्रा में विटामिन बी से भरपूर फलो ,सब्जियों,और भोजन को ले तो इस कमी से बचा जा सकता है और विटामिन बी की कमी से जो बीमारियां हमें हानि पहुँचाती है उनको रोका जा सकता है 

विटामिन बी हमे टमाटर ,अखरोट,अंडे ,हरी पत्ते दार सब्जियां,अंगूर ,नारियल ,चना,मेवा,बादाम,पालक मेथी,में आसानी से मिल सकता है जिससे हम अपने विटामिन बी की कमी को पूरा कर सकते है।
विटामिन बी की कमी को पूरा करने के लिए इन आहार को भोजन में शामिल करना हमारे अत्यंत महत्व पूर्ण है